राजीव गांधी किसान न्याय योजना: आदान सहायता राशि का भुगतान

आदान सहायता राशि का भुगतान: Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत सीधे लाभ ट्रांसफर कर आदान सहायता की राशि किसानों के खाते में वितरित की जाएगी। इस राशि का भुगतान किसानों के खाते में किश्तों में किया जाएगा। आदान सहायता की राशि का निर्धारण हर साल किया जाएगा । यह फैसला मंत्रिमंडलीय समिति करेगी। यदि किसान द्वारा बैंक खाते की जानकारी गलत तरीके से दर्ज की जाती है तो इस मामले में कृषि उपनिदेशक द्वारा संबंधित किसान को यह जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। किसान को 15 दिन के भीतर पोर्टल पर बैंक डिटेल्स फिर से दर्ज करानी होगी। इसके बाद उसे लाभ की राशि दी जाएगी। इसके अलावा, यदि किसान पिछले साल चावल की फसल उगाता है और इस वर्ष किसी अन्य फसल को पौधे लगाता है, तो आदान समर्थन देने के लिए एक अतिरिक्त राशि प्रदान की जाएगी।

धान उत्पादक किसानों को प्रदान किए जाएंगे 5837 करोड रुपए

इस योजना की शुरुआत छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने की थी। इस योजना की मदद  से किसानों को चावल की फसल का लाभ मिलता है। 18 मई 2021 को मुख्यमंत्री आवास कार्यालय से मंत्रिपरिषद की बैठक का आयोजन किया गया था। इस बैठक का आयोजन एक वर्चुअल साधन द्वारा किया गया था। सरकार ने इस बैठक में कई फैसले किए। इस बैठक में सरकार ने वृक्षारोपण को प्रोत्साहित करने के लिए मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना शुरू करने का भी निर्णय लिया। इस तरह सरकार ने तय किया कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत किसानों को 4 किश्तों में 5,837.40 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

चावल की फसलों और चावल के बीज का उत्पादन करने वाले किसानों के लिए पंजीकृत किसानों को यह राशि उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया। इस योजना की मदद से प्रदेश में किसानों को आर्थिक सहायता मिलेगी और उनकी आय भी बढ़ेगी।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना उपसमिति की बैठक

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना की शुरुआत छत्तीसगढ़ सरकार ने 21 मई 2020 को की थी। योजना के तहत सरकार द्वारा अब तक चार किश्तों की राशि किसानों के खाते में बांटी जा चुकी है। इस योजना के तहत 14 फसलों के किसानों को 10 हजार प्रति एकड़ की दर से आदान सहायता दी जाती है। इन 14 फसलों में चावल भी शामिल है। यह राशि चावल किसानों द्वारा शरद फसल के लिए आवेदन के आधार पर प्रदान की जाती है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया। तय हुआ कि इस योजना के तहत न्याय प्रक्रिया का फैसला मंत्रिमंडलीय की उपसमिति करेगी।

  • सरकार की ओर से इस साल प्रस्ताव तैयार किया गया था। इस प्रस्ताव पर चर्चा के लिए एक वर्चुअल मीटिंग का आयोजन किया जाएगा । इसमें मंत्रिपरिषद की उपसमिति मौजूद रहेगी।
  • यह वर्चुअल मीटिंग 7 मई, 2021 को होगी, जिसकी अध्यक्षता कृषि एवं जल संसाधन मंत्री राजेश चौबे 3:00 बजे से की जायगी। बैठक में सहकारिता मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम, खाद मंत्री अमरजीत भगत, वन, आवास एवं परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर आदि मौजूद रहेंगे।
  • इस साल का 5,703 करोड़ रुपये का बजट सरकार ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लिए तय किया था। इस साल छत्तीसगढ़ सरकार ने 20,000 से 53,000 किसानों को 92,000 मीट्रिक टन चावल खरीदा था। इन सभी किसानों को प्रति एकड़ आदान में ₹10000 दिए जाएंगे। यह आदान सहायता पंजीकृत क्षेत्र के आधार पर प्रदान की जाएगी।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना चौथी किस्त

21 मार्च 2021 को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत 18 लाख 53 हजार चावल किसानों के लिए चौथी किस्त का शुभारंभ करेंगे, जो एक हजार रुपये और 104 करोड़ 27 लाख रुपये होगा। इस योजना के तहत अब तक 4,500 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है।  Gandhi Kisan Nyay Yojana के तहत 21 मई, 2020 को 1,500 करोड़ रुपये का पहला बैच बनाया गया था। इसके बाद 20 अगस्त, 2020 को 1,500 करोड़ रुपये का दूसरा बैच बनाया गया और 1,500 करोड़ रुपये का तीसरा बैच नवंबर 2020 में बनाया गया।

अब चौथा बैच 21 मार्च, 2021 को किसानों के खाते में पहुंचाया जाएगा। इस योजना के तहत आवेदन करने वाले बीज उत्पादकों के सभी प्रमाणित किसानों को अब तक 23 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है। मध्य उत्पादक वर्ग में करीब 4,777 किसान हैं।

Also Check:

राजीव गांधी किसान न्याय योजना: ऑनलाइन आवेदन, CG Nyay Yojana रजिस्ट्रेशन

1 thought on “राजीव गांधी किसान न्याय योजना: आदान सहायता राशि का भुगतान”

  1. Pingback: राजीव गांधी किसान न्याय योजना लक्ष्य - Hindii.net

Leave a Comment

Your email address will not be published.

instagram volgers kopen volgers kopen buy windows 10 pro buy windows 11 pro