PM Matru Vandana Yojana | प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना में पंजीकरण ऐसे करें

भारत सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण के लिए किये गए विभिन्न प्रयासों में से एक है प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना। इस योजना की शुरुआत 1 जनवरी 2017 से की गयी थी। ये योजना भारत के सभी जिलों में लागू है। इस योजना के तहत गर्भवती तथा स्तनपान कराने वाली महिलाओं को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। यह एक केंद्र प्रायोजित योजना है जिसे “ महिला और बाल-विकास मंत्रालय” द्वारा संचालित किया जाता है। इस योजना के अंतर्गत स्तनपान कराने वाली तथा पहली बार गर्भधारण करने वाली महिलाओं को लगभग 6000 (5000 +1000 ) रूपए आर्थिक सहायता के तौर पर दिए जाएंगे। इस सहायता से वो अपने स्वास्थ्य का ख्याल रख पाएंगी और गर्भावस्था के दौरान भरपूर आराम और पौष्टिक आहार ले सकेंगी।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना 2021

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश के सभी जिलों में प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना की शुरुआत 2017 में की गयी थी। इस योजना के तहत मिलने वाली सहायता राशि सीधे पात्र लाभार्थी के बैंक खाते में जाती है। इस राशि से वो अपने आराम व पोषण सम्बन्धी जरूरतों का ख्याल रख सकती हैं। ये प्रोत्साहन राशि जोकि 5000 रूपए है , महिलाओं को तीन किस्तों में दी जाती है। पहली किश्त जोकि 1000 रूपए की है ,गर्भधारण का पंजीकरण करने पर मिलती है। दूसरी किश्त 2000 रूपए की प्रसव पूर्व कम से कम एक बार जाँच कराने पर। तीसरी किश्त भी 2000 रुपयों का भुगतान बच्चे के जन्म का पंजीकरण करने और पहले जीवित बच्चे के टीकाकरण का पहला चक्र पूर्ण होने पर किया जाएगा। इसके अलावा पात्र गर्भवती महिलाओं को शेष 1000 रूपए की राशि “जननी सुरक्षा योजना “के तहत मिलती है। इस तरह से कुल मिलाकर 6000 रूपए की सम्पूर्ण सहायता राशि सभी पात्र महिलाओं को मिलती है।

PM Matru Vandana Yojana highlights

योजना का नामप्रधानमन्त्री मातृ वंदना योजना
शुरू किया गयाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा
योजना के लाभार्थीगर्भवती महिलाएं
विभाग का नाममहिला और बाल विकास मंत्रालय
योजना से होने वाला लाभआर्थिक सहायता (5000 रूपए )
योजना का स्टेटसजारी है
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन , ऑफलाइन
ऑफिसियल वेबसाइटयहाँ क्लिक करें

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना से समबन्धित कुछ महत्वपूर्ण तथ्य यहाँ जाने

  • अभी तक इस योजना के अंतर्गत लाभ पाने वाली महिलाओं की संख्या लगभग 1.75 करोड़ है। (वर्ष 2017 -2020)
  • पहले इस योजना का नाम पहले 2010 में “इंदिरा गाँधी मातृ सहयोग योजना” के रूप में शुरू किया गया था। इसके बाद इसका नाम “मातृ सहज योजना” किया गया। और अब 2017 में इस योजना का नाम “प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना” किया गया है जो अब पूरे देश में लागू है।
  • वो राज्य अथवा केंद्र-शाषित प्रदेश जिनकी आबादी एक करोड़ से ज्यादा है , इस योजना के शुरुआत से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की श्रेणी में पहला पुरस्कार मध्य प्रदेश , दूसरा पुरस्कार आंध्रा प्रदेश व तीसरा हरयाणा को प्रदान किया गया।
  • इसी श्रेणी में वो राज्य तथा केंद्रशासहित प्रदेश जिनकी आबादी 1 करोड़ से काम है उनमे से पहला पुरस्कार दादर एवं नागर हवेली , दूसरा स्थान हिमांचल प्रदेश और चंडीगढ़ को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ है।
  • 1 करोड़ से ज्यादा आबादी वाले राज्यों व केंद्र शाषित प्रदेशों के लिए जिला स्तर पुरुस्कारों में से पहला स्थान मध्य प्रदेश के इंदौर , दूसरा आंध्रा प्रदेश के कुर्नूल और तीसरा असम के दक्षिण सलमारा मनकाचार को दिया गया है।
  • 1 करोड़ से कम आबादी वाले राज्यों /केंद्रशाषित प्रदेशों के जिलों में पहला स्थान मिजोरम में सेरछिप और दूसरा स्थान हिमांचल प्रदेश में ऊना और तीसरा पुरस्कार पुड्डुचेरी को दिया गया है।
  • ये योजना PM Matru Vandana Yojana कॉमन एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (PMMVY-CAS) के माध्यम से केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा योजना के कार्यान्वयन की बारीकी से निगरानी करती है।
PM Matru Vandana Yojana का उद्देश्य ये है

इस योजना को भारत में स्तनपान कराने वाली माताओं और पहली बार गर्भवती हुई महिलाओं को ध्यान में रखकर बनाया गया है। PM Matru Vandana Yojana का प्रमुख उद्देश्य महिलाओं का गर्भावस्था के दौरान उनकी पोषण सम्बन्धी जरूरतों को पूरा करने और उनके स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर उन्हें प्रोत्साहन राशि के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान करना है। इस योजना के तहत ये प्रयास किया गया है कि गर्भवती स्त्रियों और स्तनपान कराने वाली माताओं को पूरा आराम मिल सके और जो महिलाएं काम करती हैं उन्हें आंशिक मुआवज़े के तौर पर आर्थिक सहायता मिल सके।

पी एम एम वी वाई योजना में अप्लाई करने की पात्रता शर्तें यहाँ जानें

पीएमएमवीवाई योजना स्तनपान कराने वाली माताओं और पहली बार गर्भधारण कर रही महिलाओं के लिए है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा कुछ पात्रता शर्तें लागू की गयी हैं। अगर आप भी इस सुविधा का लाभ लेना चाहते हैं तो पहले इन पात्रता शर्तों को ध्यान से पढ़ लें। आगे इस योजना से जुडी प्रमुख पात्रता शर्तों के बारे में बताया जा रहा है।

  • इस योजना का लाभ केवल महिलाएं ले सकती हैं जो 1 जनवरी 2017 को या उस से बाद गर्भवती हुई हैं। उस से पहले गर्भवती हुई महिलाओं को इस सुविधा का लाभ नहीं मिलेगा।
  • वो महिलाएं जो केंद्र व राज्य सरकार के अधीन नियमित रोजगार में है वो इस योजना का लाभ नहीं उठा सकती है।
  • जो महिलाएं इस योजना का लाभ किसी अन्य योजना के माध्यम से उठा रही हैं वो महिलाएं भी इस योजना के पात्र नहीं होंगी।
  • गर्भवती महिला जो इस सुविधा की लाभार्थी है , उसकी उम्र 19 साल से कम नहीं होनी चाहिए।
आवेदन हेतु ये हैं आवश्यक दस्तावेज़

पी एम मातृ वंदना योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन कराने के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज़ की जरुरत पड़ेगी। इनके बारे में जानने के लिए आगे पढ़ें।

  • आधार कार्ड की कॉपी (या पंजीकरण की स्लिप के लिए )
  • पहचान पत्र
  • वोटर आईडी कार्ड की कॉपी – इसका उपयोग आयु प्रमाण पात्र के तौर पर किया जाएगा । ये पति पत्नी दोनों को देना होगा।
  • राशन कार्ड की कॉपी – इसका उपयोग लाभार्थी महिला के पते (ससुराल ) के साक्ष्य हेतु
  • बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस के पासबुक की कॉपी
  • मदर एंड चाइल्ड प्रोटेक्शन कार्ड (एमसीपी कार्ड )
  • स्वास्थ्य कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
  • लाभार्थी और उसके पति द्वारा एक स्वीकृति पत्र
यहाँ जानिये योजना के लाभ

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना देश की महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने और अपनी व अपने शिशु के पोषण का ध्यान रखने के उद्देश्य से लायी गयी है। इस योजना के तहत होने वाले लाभ

  • इस योजना PM Matru Vandana Yojana के तहत मुख्यतः मजदूर वर्ग की महिलाओं को लाभ होगा।
  • भारत सरकार द्वारा लायी गयी ये योजना महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान आर्थिक रूप से मजबूत बनाएगी।
  • जो महिलाये मजदूरी करती हैं उन्हें आंशिक मुआवज़े के तौर पर आर्थिक सहायता मिल सके।
  • भारत में हर दूसरी महिला को एनीमिया की शिकायत है और तीसरी महिला कुपोषण की शिकार है , इसलिए इस योजना के तहत मिलने वाली राशि महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं से निजात दिलाने में काफी हद तक कारगर साबित हो सकती है।
  • जिन महिलाओं के घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है उन्हें अपनी गर्भावस्था के दौरान भी काम करना आवश्यक हो जाता है और बच्चे के जन्म के बाद भी उन्हें जल्द ही काम पर जाना पड़ता है। ऐसा करने से उनके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। PM Matru Vandana Yojana के अंतर्गत जो प्रोत्साहन राशि मिलेगी उस से वो अपना और अपने शिशु का ख्याल रख सकती हैं ।
  • पीएमएमवीवाई योजना के अंतर्गत मिलने वाली प्रोत्साहन राशि सीधे महिलाओं के खाते में जाएगी। इसका उपयोग इस्तेमाल महिलायें अपने व अपने शिशु के लिए कर सकती हैं।
  • प्रधान मंत्री मातृ वंदना योजना से माँ व शिशु मृत्यु दर में भी कमी आएगी।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना पंजीकरण ऐसे करें

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत अगर आप भी पंजीकृत होना चाहते हैं तो यहाँ बताये गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आप को ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • उसके बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा। वहां पर आप को नीचे की तरफ दिया हुआ “बेनेफिशरी लॉगिन ” का लिंक दिखेगा।
  • अब आपको “बेनेफिशरी लॉगिन ” पर क्लिक करना है।
  • उसके बाद अगले पेज पर आपको फिर नीचे की तरफ दूसरे नंबर पर दिए ऑप्शन “फॉर रजिस्टरिंग न्यू यूजर ” के आगे “क्लिक हेअर ” पर क्लिक करना है।
  • अगले पेज पर आप देख सकते हैं की आपके सामने एक फॉर्म खुल गया है। यहाँ पूछी गयी सारी जानकारी भरनी है। लाभार्थी का नाम , मोबाइल नंबर , ईमेल आईडी और ओ टी पी , साथ ही कॅप्टचा कोड भी दर्ज़ करना है।
  • फॉर्म के दाहिने तरफ आप देखेंगे कि हिंट प्रश्न व उसका उत्तर भरने को कहा गया है। ये जानकारी आपके आगे चलकर पासवर्ड भूलने की स्थिति में इस्तेमाल होगी।
  • अंत में आप को “रजिस्टर ” पर क्लिक करना है।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना लॉगिन करने की प्रक्रिया यहां जानें

पी एम मातृ वंदना योजना के ऑफिसियल वेबसाइट से लॉगिन करने की प्रक्रिया को आगे बताया जा रहा है। अगर आप भी लॉगिन की प्रक्रिया को जानना चाहते हैं तो बताये गए कुछ सरल स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आप हमारे आर्टिकल में ऊपर बताये लिंक से ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ।
  • उसके बाद आपके सामने होम पेज पर नीचे दिए गए “ बेनेफिशरी लिंक” पर क्लिक करें।
  • फिर अगले पेज पर आप देख सकते हैं की बेनेफिशरी लॉगिन का ऑप्शन खुल जाता है।
  • अब आप यहाँ पूछे गए ईमेल आईडी , पासवर्ड , कैप्चा कोड आदि भरकर आसानी से लॉगिन कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के लाभ लेने हेतु फॉर्म ऐसे डाउनलोड करें

प्रधान मंत्री द्वारा योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक है की इस योजना के तहत आप रजिस्ट्रेशन करवा लें। इसके लिए आपको फॉर्म भरने होंगे जो आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर मिल जाएंगे। फॉर्म कैसे डाउनलोड करने हैं , इस प्रक्रिया को हम आगे बता रहे हैं। कृपया जान ने के लिए आगे पढ़ते रहें।

  • सबसे पहले फॉर्म डाउनलोड करने के लिए आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। इसके लिए आप यहाँ क्लिक करें।
  • अब आपके सामने होमपेज खुल जाएगा। वहां पर आप नीचे की तरफ “डाउनलोड पीएमएमवीवाई फॉर्म ” का ऑप्शन सकते हैं।
  • आप “डाउनलोड पीएमएमवीवाई फॉर्म” पर क्लिक कर दें।
  • यहाँ आप देख सकते हैं कि फॉर्म 1ए तथा फॉर्म 1 बी के ऑप्शन दिख रहे हैं।
  • आप एक एक करके दोनों फॉर्म्स पर क्लिक कर दें। दोनों फॉर्म डाउनलोड हो जाएंगे।
  • दूसरा फॉर्म
  • अब आप उनका प्रिंट आउट निकाल सकते हैं।

PM Matru Vandana Yojana से सम्बंधित प्रश्न उत्तर

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना किसके लिए है ?

पी एम मातृ वंदना योजना उन सभी स्तनपान कराने वाली माताओं और पहली बार गर्भधारण करने वाली महिलाओं के लिए है। इस योजना के तहत गर्भावस्था के दौरान उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए प्रोत्साहन राशि के तौर पर आर्थिक सहायता दी जाएगी।

इस योजना के तहत कौन कौनआवेदन कर सकता है ?

इस योजना के तहत वो सभी महिलाएं आवेदन कर सकती हैं जो पहली बार गर्भवती हुई हैं और वो माताएं भी जो शिशुओं को स्तनपान करती हैं। इस योजना के तहत वो महिलाएं आवेदन करने की योग्यता नहीं रखेंगी जो नीचे दिए गए बिंदुओं से सम्बंधित हैं।

वो महिलाएं जो किसी राज्य अथवा केंद्र सरकार के अधीन नियमित रोज़गार में है

जो महिलाएं सामान सुविधाएं किसी और स्कीम या माध्यम से उठा रही हों , उन्हें इस से बहार माना जाएगा

अन्य पात्रता शर्तें जान ने के लिए हमारे आर्टिकल को पूरा पढ़ें

पी एम मातृ वंदना योजना के तहत मिलने वाली आर्थिक सहायता कब मिलेगी ?

इस योजना के अंतर्गत मिलने वाली आर्थिक सहायता गर्भधारण के पंजीकरण कराने के बाद से मिलनी शुरू होगी। ये तीन किश्तों में दी जाएगी।

मातृ वंदना योजना के तहत कितनी आर्थिक सहायता मिलेगी व कैसे ?

इस योजना के तहत मिलने वाली आर्थिक सहयता पाने के लिए पहले आपको ऑनलाइन या ऑफलाइन पंजीकरण कराना होगा। उसके बाद आपको आर्थिक सहायता मिलनी शुरू हो जाएगी। ये आर्थिक सहायता 5000 रूपए की होगी और 1000 रूपए “जननी सुरक्षा योजना ” के माध्यम से भी प्राप्त होगी जो कुल मिलकर 6000 रूपए की होगी।

पीएमएमवीवाई योजना से मिलने वाली प्रोत्साहन राशि कब और कितने किश्तों में मिलेगी ?

इस योजना के अंतरगत गर्भवती महिलाओं को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि तीन किश्तों में मिलेगी। सबसे पहले जब गर्भधारण के पश्चात पंजीकरण कराने पर पहली किश्त मिलेगी। दूसरी किश्त 2000 रुपयों की जो प्रसव पूर्व कम से कम एक बार जांच कराने।तीसरी किश्त बच्चे के जन्म के बाद उसके पंजीकरण तथा जीवित पहले बच्चे के टीकाकरण के एक चक्र पूर्ण होने के बाद।

इस योजना के तहत होने वाले लाभ ?

इस योजना से होने वाले बहुत से लाभ है जो आप हमारे आर्टिकल में विस्तार से पढ़ सकते हैं।

पीएमएमवीवाई योजना के अंतर्गत पंजीकरण कैसे कराएं ?

इस योजना के तहत अगर आप भी पंजीकरन कराना चाहते हैं तो पंजीकरण की पूरी प्रक्रिया हमारे इस आर्टिकल से पढ़ सकते हैं

प्रधानमन्त्री मातृ वंदन योजना की ऑफिसियल वेबसाइट ?

इस योजना की ऑफिसियल वेबसाइट यहाँ दी जा रही है। कृपया यहाँ क्लिक करें।

इस लेख के माध्यम से हमने आप को प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के बारे में सभी आवश्यक जानकारी देने का प्रयास किया है। आशा करते हैं की आप को यह जानकारी पसंद आयी होगी। यदि आप इस बारे में और कुछ जानना चाहते हैं या कुछ पूछना चाहते हैं तो आप हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं। हम आप के प्रश्नों का उत्तर अवश्य देंगे।

Also Check:

UP Krishi Yantra Subsidy Yojana: [सब्सिडी] यूपी कृषि उपकरण योजना 2021 अप्लाई ऑनलाइन

1 thought on “PM Matru Vandana Yojana | प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना में पंजीकरण ऐसे करें”

  1. Pingback: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2021: ऑनलाइन फॉर्म pmfby.gov.in Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2021 - Hindii.net

Leave a Comment

Your email address will not be published.

instagram volgers kopen volgers kopen buy windows 10 pro buy windows 11 pro